संविधान दिवस 26 नवंबर को ही क्यों मनाया जाता है, जाने पुरी सच्चाई

आज हम आपको बताने वाले है की हमारे भारत देश मे संविधान दिवस 26 November को क्यों मनाया जाता है ।

भारत देश मे रहने वाले हरेक भारतीय को यह पता होना चाहिये की आखिरकाम संविधान दिवस २६ नवम्बर को ही क्यों मनाया जाता है ।

हमारा भारत देश जब आजाद हुआ तब सबसे पहला काम करना था की स्वतंत्र भारत का एक मजबुत और सबको ध्यान मे रखते हुए एक अद्वितिय संविधान बनाना ।

भारत का संविधान बनाने का काम डॉ बीआर अंबेडकर की अध्यक्षता वाली समिति को सौंपा गया था ।

लेकिन उससे पहले संविधान बनाने का काम भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद ही कर रहे थे ।

भारत के संविधान बनाने की शुरूआत 1946 मे चालु किया गया था और भारत के संविधान को पुरा होने मे 4 साल का समय लग गया ।

4 साल की अवधि के बाद सन 1950 के November 26 को भारत के संविधान को लागु किया गया जो की हर भारतीय समुदाय को ध्यान मे रख के बनाया गया था ।

भारत के संविधान को 26 November 1950 मे लागु किया गया था इसलिये हर साल 26 November को भारतीय संविधान दिन के तौर पर मनाया जाता है ।